30 C
Patna
April 7, 2020
नई दिल्ली मुख्य समाचार राज्य समाचार

निर्भया गैंगरेप के दोषी को सुबह 3 मार्च को फांसी के फंदे से लटकाया जाएगा, कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट

nirbhaya rapist death warrant

नई दिल्लीनिर्भया गैंगरेप के दोषियों के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने नया डेथ वारंट (Nirbhaya rapist death warrant) जारी कर दिया है। नए डेथ वारंट के अनुसार दोषियों को 3 मार्च की सुबह 6 बजे फांसी के फंदे से लटकाया जाएगा। फैसला सुनाने के बाद दोषी पवन कुमार के वकील ने कहा वह सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव और राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाना चाहता है। वहीं एक और दोषी अक्षय राष्ट्रपति के पास एक और दया याचिका लगाने जा रहा है। विनय कुमार के वकील ने कोर्ट को बताया वह पिछले कई दिनों से भूख हड़ताल पर बैठा हुआ है। कोर्ट द्वारा डेथ वारंट जारी होने पर निर्भया के गुनहगारों के वकील एपी सिंह ने बताया की अभी भी हमारे पास कई विकल्प मौजूद हैं, हम उसका इस्तेमाल करेंगे अगर ऐसा करने से हमें रोका जाता है, तो यह मिसकैरिज ऑफ जस्टिस होगा।

यह भी पढ़ें : – सरसो के खेत में मौसेरी बहन के साथ किया दुष्कर्म, दुसरा दोस्त दुष्कर्म का वीडियो बनाता रहा

Nirbhaya rapist death warrant

हैवानियत की शिकार हुई निर्भया के माता-पिता और केंद्र सरकार ने दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने की सजा पर अमल करने के लिए याचिका दायर की थी। दरअसल फांसी को टालने के लिए दरिंदे क़ानूनी अड़चन का फायदा उठा रहे हैं, सभी एक – एक कर राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर कर रहे हैं। कानून के मुताबिक़ एक गुनाह में दोषी पाए गए अपराधियों को अलग – अलग फांसी नहीं दी जा सकती है। याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि केंद्र की याचिका लंबित रहने पर ट्रायल कोर्ट द्वारा फांसी के लिए नया डेथ वॉरंट जारी किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : – 16 वर्षीया दलित लड़की के साथ 10 लोगों ने 6 महीने तक किया गैंगरेप, 5 आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

सोमवार को पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई शुरू होने के बाद दोषी मुकेश सिंह ने जज से वकील वृंदा ग्रोवर की जगह नया वकील नियुक्त करने की अपील की। इसपर कोर्ट ने उसके लिए वकील रवि काजी को नियुक्त किया। दोषी विनय के वकील ने कोर्ट में कहा उसके मुवक्किल की मानसिक हालत ठीक नहीं है, ऐसी हालत में उसे फांसी नहीं दिया जा सकता है। दोषी पवन के वकील ने कोर्ट के समक्ष कहा उसके मुवक्किल सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव और राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर करना चाहते हैं। दरअसल चारों दोषियों में सिर्फ पवन के पास ही यह विकल्प बचा हुआ है। वहीं दोषी अक्षय एक बार फिर से राष्ट्रपति के पास नयी दया याचिका लगाना चाहता है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...