30 C
Patna
August 13, 2020
देश महाराष्ट्र मुख्य समाचार राज्य समाचार

आतंकी कसाब को हिन्दू साबित करना चाहती थी ISI, पुलिस कमिश्नर रहे राकेश मारिया ने किया खुलासा

rakesh maria book

मुंबई। 26/11 को मुम्बई में हुए हमले के दोषी अजमल कसाब को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है, जिसके बारे में जानकारी मिलने से पुलिस महकमा और महाराष्ट्र सरकार में हड़कंप मच गया है। आतंकी अजमल कसाब को लेकर यह खुलासा पूर्व मुम्बई पुलिस कमिश्नर और मशहूर पुलिस अधिकारी रहे राकेश मारिया ने अपनी आत्मकथा “let me say it now” के जरिये की है। यह किताब (Rakesh maria book) मार्केट में आने से पहले ही चर्चा का विषय बन गयी है। राकेश मारिया ने अपनी आत्मकथा में 26/11 मुम्बई आतंकी हमले से लेकर पुलिस पर राजनितिक दखल के बारे वह सब पर खुलकर बोले हैं, जो वह खाकी पहनकर कभी नहीं कह सके।

यह भी पढ़ें : – रोज गोल्ड बैकलेस गाउन में सनी लियोन की फोटोशूट ने मचाया ग़दर, फोटो देख फैंस की धड़कने हुई बेकाबू

राकेश मारिया ने अपनी आत्मकथा में लिखा है की 26/11 मुंबई हमले के दोषी अजमल कसाब को मारने की सुपारी दाऊद इब्राहिम के गैंग को दी गयी थी। साथ उन्होंने दावा करते हुए लिखा है – पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI मुंबई हमले में शामिल सभी आतंकवादियों को हिन्दू आतंकी साबित करना चाहती थी। जीवित पकड़े गए आतंकी कसाब के पास से पुलिस को समीर चौधरी के नाम से एक फर्जी आईकार्ड भी मिला था। इस आईकार्ड में समीर चौधरी को बैंगलोर का निवासी, तथा हैदराबाद के दिलकुशनगर के एक कॉलेज का छात्र बताया गया था। पुलिस को आईकार्ड मिलने के बाद एक टीम जांच के लिए बैंगलोर रवाना भी हो चुकी थी।

Rakesh maria book

यह भी पढ़ें : – निर्भया गैंगरेप के दोषी को सुबह 3 मार्च को फांसी के फंदे से लटकाया जाएगा, कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट

ज़िंदा पकड़े गए आतंकी अजमल कसाब की पहचान गुप्त बनाये रखना पुलिस के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती थी। वह मीडिया को उसकी फोटो या पहचान नहीं बताना चाहते थे। ट्रायल के दौरान बेनकाब हो रहे पाकिस्तान ने अजमल कसाब को मारने की सुपारी दाऊद इब्राहिम के गैंग को दी थी। पूर्व मुम्बई पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया के इस खुलासे से पुलिस महकमा और महाराष्ट्र सरकार में हड़कंप मच गया। उन्होंने आगे लिखा है, आतंकी कसाब को ज़िंदा रखना मेरी पहली प्राथमिकताओं में शामिल था।

यह भी पढ़ें : – सड़क हादसे में बाइक सवार कॉन्स्टेबल की मौत, तीन महीने बाद होनी थी शादी

पूर्व मुम्बई पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने चर्चित शीना बोरा हत्याकांड की जांच में शामिल रहे, अपने सहयोगी तत्कालीन सह पुलिस आयुक्त देवेन भारती पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा – देवेन भारती ने तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को मेरे बारे में कई गलत जानकारी देकर उन्हें गुमराह करने का काम किया। इसके बाद उनका तबादला कर दिया गया।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...