30 C
Patna
September 30, 2020
विदेश

कोरोना से लड़ने के लिए इमरान खान ने विदेशी नागरिकों के सामने फैलाये हाथ, आर्थिक मदद देने की गुजारिश

pakistan fight against coronavirus

पाकिस्तान। पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1 हजार के करीब पहुँच चुकी है। पाकिस्तान के अखबार द डॉन के मुताबिक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की सबसे ज़्यादा संख्या सिंध (Pakistan Fight Against Coronavirus) में है। यहां अब तक 400 से ज़्यादा मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीँ पाकिस्तान में कोरोना वायरस से अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफा को देखते हुए प्रांतों में लॉकडाउन किया जा चुका है। इसके बाद भी वहाँ के नागरिक सावधानी नहीं बरत रहे हैं। लोगों की आदतों से परेशान पीएम इमरान खान ने सख्त चेतावनी देते हुए कहा – अगर अब भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आये तो पुरे देश में कर्फ्यू लगाना पडेगा। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इमरान खान ने विदेश में रह रहे अपने नागरिकों से आर्थिक मदद देने की गुजारिश की है।

यह भी पढ़ें : – कोरोना के बाद हन्ता वायरस ने दुनिया में मचाया कोहराम, कोरोना से 24% ज़्यादा खतरनाक है यह वायरस, चूहों से फ़ैल रहा है वायरस

पाकिस्तान के अखबार द डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने एक टीवी चैनल को दिए गए, इंटरव्यू में देश की बदहाल आर्थिक स्थिति का रोना रोते हुए, विदेश में रह रहे पाकिस्तानी नागरिकों से आर्थिक मदद करने की गुजारिश की है। साथ ही उन्होंने कहा की पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति को देखते हुए आर्थिक रूप से सशक्त लोगों को हमारी मदद के लिए सामने आना चाहिए। हमारी आर्थिक स्थिति इटली और अमेरिका जैसी नहीं है। तमाम यूरोपीय देश आर्थिक रूप से संपन्न हैं। जिसकी वजह से वह कोरोना वायरस से लड़ने में पूरी तरह सक्षम हैं। लेकिन आर्थिक रूप से बदहाल देशों की मदद के लिए सभी को आगे आना चाहिए।

Pakistan Fight Against Coronavirus

यह भी पढ़ें : – सरसो के खेत में मौसेरी बहन के साथ किया दुष्कर्म, दुसरा दोस्त दुष्कर्म का वीडियो बनाता रहा

इमरान खान ने इटली का उदाहरण देते हुए कहा – वहाँ कर्फ्यू जैसे हालात में भी जरुरत की सभी चीजें सरकार मुहैया कराने में सक्षम है। परन्तु हमारे यहां स्थिति पूर्णतया भिन्न है। कोरोना वायरस की वजह से हालात बिगड़ने पर अगर कर्फ्यू लगाया गया तो, जो भी कामगार रोजाना कमाकर खाते हैं। वैसे गरीबों के सामने अपना पेट पालने की समस्या उत्पन्न हो जायेगी।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...