30 C
Patna
October 29, 2020
देश मुख्य समाचार

लॉकडाउन में घर से बाहर फंसे लोगों की होगी घर वापसी, गृह मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन्स

Permission to move to another state

नई दिल्ली। देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों और विद्यार्थियों की घर वापसी के लिए गृह मंत्रालय ने अनुमति दे दी है। गृह मंत्रालय ने इस बाबत सम्बंधित राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश को अपने यहां फंसे लोगों को उनके घर वापस भेजने के लिए प्रोटोकॉल तैयार करने के आदेश दिए हैं। गृह मंत्रालय के आदेश के बाद बाहर फंसे लोगों की घर वापसी (Permission to move to another state) की राह आसान हो गयी है। हालांकि इसके लिए कुछ नियम और शर्तें भी रखी गयी है।

यह भी पढ़ें : – यूपी में दो साधुओं की नृशंस हत्या पर सीएम योगी हुए नाराज, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश

गृह मंत्रालय द्वारा जारी किये गाईडलाईन के अनुसार वैसे लोग जो लॉकडाउन की वजह से सुदूर क्षेत्रों में फंस गए हैं, कुछ शर्तों के साथ वह घर वापस जा सकेंगे। उनकी घर वापसी के लिए सम्बंधित राज्य गाड़ी का इंतजाम करेगी। इसके सम्बन्ध में गृह मंत्रालय ने राज्यों को निर्देश देते हुए कहा है, की अपने यहां फंसे लोगों को घर भेजने के लिए नोडल प्राधिकरण और नियम बनाएं। साथ ही बाहर राज्यों में फंसे लोगों की पंजीकरण करने का भी निर्देश दिया है।

Permission to move to another state

यह भी पढ़ें : – अगले सप्ताह से कोरोना उक्त मुक्त जिलों से हट सकता है लॉकडाउन, अर्थव्यवस्था चलाने के लिए सरकार ने लिया फैसला

गृह मंत्रालय के नई गाइडलाइन्स के अनुसार वैसे नागरिक जो लॉकडाउन की वजह से दूसरे राज्यों में फंस गए हैं, और घर वापस जाना चाहते हैं। उस राज्य को सम्बंधित राज्य के मुख्यमंत्री से बातचीत करके घर भेजने की व्यवस्था की जाए। किसी को घर भेजने से पहले उसकी (स्क्रीनिंग) की जाए। कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए जाने पर ही उन्हें घर भेजा जाए। लोगों को बसों के जरिये भेजने का आदेश दिया गया है।

यह भी पढ़ें : – टीम से बाहर किये जाने पर क्रिस गेल ने साथी खिलाड़ी को जमकर गालियां दी, सांप से भी बदतर इंसान बताया

लोगों को वापस भेजने से पहले बीएस को पूरी तरह से सेनिटाईज किया जाए। साथ ही यात्रा के दौरान भी सोशल डिस्टेंस का ख़ास ख्याल रखा जाए। उनके गंतव्य स्थान पर पहुँचने के बाद सभी लोगों की मेडिकल जांच की जाए। इसके बाद भी बाहर से आये लोगों को अलग रहना होगा। अगर हालात सही नहीं रहे तो लोगों को क्‍वारंटाइन सेंटर में भी रखा जा सकता है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...