30 C
Patna
October 1, 2020
क्रिकेट खेल

धोनी ने जितनी भी सफलता हासिल की, इस खिलाडी के बिना नामुमकिन था, गौतम गंभीर ने बताया उस खिलाड़ी का नाम

gambhir says on dhoni success

क्रिकेट। भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने अपने क्रिकेट कैरियर में जो भी हासिल किया है, उसके आस-पास भी पहुंचना बहुत सारे खिलाड़ियों एक लिए महज एक सपना है। क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में धोनी ने अपनी नेतृत्व क्षमता का लोहा मनवाया है। वनडे और टी20 में टीम को विश्व विजेता बनाया तो टेस्ट में नंबर वन का ताज भी दिलवाया। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने धोनी की इस सफलता (Gambhir says on Dhoni success) के पीछे एक खिलाड़ी को बताया है। गंभीर के अनुसार इस खिलाड़ी के बिना धोनी के लिए सफलता की राह इतनी आसान नहीं होती।

यह भी पढ़ें : – पोंटिंग से बेहतर कप्तान हैं महेंद्र सिंह धोनी – माइकल हसी, युवा खिलाड़ियों पर कभी दवाब नहीं आने देते

Gambhir says on Dhoni success

गंभीर ने धोनी की सफलता पर बात करते हुए कहा की सौरव गांगुली (Saurav Ganguly)ने जो टीम बनायी उसी की वजह से धोनी उतनी सारी ट्रॉफियां जीत सके। टेस्ट मैच जीतने के लिए तेज गेंदबाज बेहद महत्वपूर्ण होते हैं। ऐसे में टीम में ज़हीर खान की मौजूदगी ने धोनी की राह आसान कर दी। आपको बता दें की ज़हीर खान को टीम में लाने का श्रेय पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली को ही जाता है। ज़हीर खान दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में गिने जाते हैं। गांगुली ने सहवाग, युवराज, हरभजन और धोनी को भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए बेशुमार मौके दिए।

यह भी पढ़ें : – गांगुली की कप्तानी को याद कर भावुक हुए युवराज सिंह, बोले “दादा” ने जितना मुझे सपोर्ट किया, धोनी कोहली ने कभी नहीं किया

गंभीर ने आगे कहा – धोनी की सफलता में ज़हीर खान अहम् कड़ी साबित हुए। धोनी को यह एक तरह से वरदान की तरह मिला था। जिसका श्रेय सिर्फ सौरव गांगुली को ही जाता है। ज़हीर खान ने धोनी की कप्तानी में कुल 33 टेस्ट मैचों में 132 विकेट हासिल किये। उनकी शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत 2009 में आईसीसी रैंकिंग में पहली बार पहले पायदान पर पहुंची थी।

यह भी पढ़ें : – युवती को झाड़ियों में खींचकर ले गए 5 युवक, कपडे उतार कर बनाया वीडियो

Gambhir says on Dhoni success

गंभीर ने भारतीय टीम में सौरव गांगुली के योगदान को याद करते हुए कहा – गांगुली ने टीम को विनिंग कॉम्बिनेशन बनाने में काफी कड़ी मेहनत की। गांगुली ने टीम बनाने में जो कड़ी मेहनत की उसी का सफलता का स्वाद धोनी ने पुरे कैरियर में चखा। धोनी काफी भाग्यशाली कप्तान रहे के उनसे पहले गांगुली जैसा कप्तान मिला। जिसने टीम को बनाने के लिए अपने कैरियर की भी परवाह नहीं की। साल 2011 का विश्व कप धोनी सिर्फ इसलिए जीत सके क्यूंकि उस टीम में सचिन, सहवाग, युवराज, मेरे अलावा ज़हीर खान थे। और इन सबके पीछे सौरव गांगुली की कड़ी मेहनत।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...