30 C
Patna
July 16, 2020
बिहार राज्य समाचार

जर्दालु आम और लीची की फ्री होम डिलीवरी करेगी बिहार सरकार, ऑनलाइन आर्डर कर मँगा सकेंगे घर पर

buy mango online in bihar

पटना। कोरोना महामारी का संकट फिलहाल ख़त्म होने के आसार दिखाई नहीं दे रहे हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण का शिकार होने के डर से लोग घर से बाहर निकलने में भी हिचक रहे हैं। आधा मई बीत जाने के बाद आम और लीची के शौकीन लोग चिंतित है। ऐसे लोगों एक लिए बिहार सरकार खुशखबरी लेकर आयी है। बिहार के जर्दालु आम और शाही लीची की बिहार सरकार ने होम डिलीवरी करवाने का फैसला लिया है। वह भी बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के। उपभोक्ता ऑनलाइन आर्डर (Buy Mango online in Bihar) करके घर बैठे आम और लीची की मिठास का आनंद ले सकते हैं। हालांकि यह सेवा अभी सिर्फ राजधानी पटना और भागलपुर में प्रयोग के तौर पर शुरू की गयी है।

यह भी पढ़ें : – सरसो के खेत में मौसेरी बहन के साथ किया दुष्कर्म, दुसरा दोस्त दुष्कर्म का वीडियो बनाता रहा

बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा – कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए लागू किये गए लॉकडाउन की वजह से किसानों को नुक्सान नहीं हो, इसके लिए बिहार सरकार ने आम और लीची की फ्री होम डिलीवरी (Buy Mango online in Bihar) कराने का फैसला लिया है।कृषि विभाग के उद्यान निदेशालय द्वारा बगीचे से पके हुए आम और लीची को तोड़कर उपभोक्ताओं के घर पहुंचाया जाएगा। फिलहाल के लिए इसे शुरुआत में सिर्फ तीन शहरों में शुरू किया जा रहा है। अच्छा रिस्पॉन्स मिलने के बाद इसे बिहार के सभी जिलों में शुरू किया जाएगा।

Buy Mango online in Bihar

यह भी पढ़ें : – घोर कलयुग – थाने में भाई ने 13 साल की नाबालिग बहन से रचाई शादी, गर्भवती होने पर पुलिस से सुरक्षा की मांग की

आपको बता दें की यह दोनों फलों को जीआई टैग प्राप्त है। लीची के शौकीन उपभोक्ताओं को मुजफ्फरपुर की शाही लीची के लिए 25 मई से 15 जून तक तथा भागलपुर के जर्दालु आम के लिए एक जून से 20 जून तक उद्यान निदेशालय की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आर्डर करना होगा। आर्डर मिलने के बाद बिहार सरकार डाक विभाग द्वारा जर्दालु आम और शाही लीची मुजफ्फरपुर, पटना तथा भागलपुर में उपभोक्ताओं के घर तक पहुंचाएगी। पैसे का भुगतान ग्राहक कैश या पीओएस मशीन के जरिये कर सकते हैं। जर्दालु आम भागलपुर और पटना के उपभोक्ता तथा लीची मुजफ्फरपुर और पटना के उपभोक्ता आर्डर कर सकते हैं।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...