30 C
Patna
February 27, 2021
बिहार मुख्य समाचार राज्य समाचार

फसल की उचित कीमत नही मिलने से दुखी किसान ने लहलहाती फसल को ट्रैक्टर चलाकर किया नष्ट

farmer runs tractor over cauliflower

समस्तीपुर। एक तरफ पीएम नरेन्द्र मोदी देश के किसानों की आमदनी बढाने की कोशिशों में जुटे हुए हैं, वहीँ दूसरी ओर बाज़ार में फसल की उचित कीमत नही मिलने से किसान बेहद दुखी हैं । बिहार के समस्तीपुर जिले में एक किसान अपनी फसल की उचित कीमत ना मिलने से इतना ज़्यादा दुखी हो गया की, उसने लहलहाती फसल पर ट्रैक्टर चलाकर उसे नष्ट (Farmer runs tractor over cauliflower) कर दिया। किसान ने अपना दुखड़ा रोते हुए बताया की फसल को तैयार करने में 4 हजार रुपये प्रति कट्ठा खर्च आया। परन्तु मंडी में इसे कोई एक रुपये किलो भी खरीदने को तैयार नहीं है। मज़बूरी में उसने लहलहाती फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। आपको बता दें की केंद्र सरकार ने किसान की आमदनी बढ़ाने के लिए नए कृषि कानून लेकर आयी है, जिसके विरोध में हजारों किसान राजधानी में डटे हुए हैं।

यह भी पढ़ें : – हैवानियत – दलित महिला के साथ 7 युवकों ने किया गैंगरेप, महिला के मासूम बेटे को तड़पा-तड़पाकर मारा

समस्तीपुर जिले के मुक्तापुर के निवासी ओम प्रकाश यादव मुख्यतः खेती करके अपना परिवार चलते हैं। ओम प्रकाश यादव ने डबडबाती आँखों से बताया की बड़ी उम्मीदों के साथ गोभी की खेती की थी। इस बार उपज भी काफी शानदार थी। बड़े उल्लास से वह तैयार फसल को बेचने के लिए मंडी पहुंचे थे। परन्तु वहाँ गोभी की कीमत सुनकर वह अपना माथा पकड़कर वहीँ बैठ गए। मंडी में गोभी को 1 रुपये किलो भी लेने के लिए कोई तैयार नहीं था। किसी तरह से खुद को दिलासा देते हुए ओम प्रकाश यादव दुखी मन से घर लौट आये।

Farmer runs tractor over cauliflower

यह भी पढ़ें : – कुप्रथा – शादी करने के लिए लड़की के साथ महीनों ज़बरदस्ती बनाते हैं सम्बन्ध, गर्भवती हो जाने के बाद लड़की नहीं कर पाती….

घर लौटने के बाद ओम प्रकाश यादव ने लहलहाती फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। उन्होंने बताया की एक कट्ठा गोभी उगाने में लगभग 4 हजार रुपये की लागत आती है। लेकिन मंडी में गोभी को कोई 1 रुपये किलो भी नहीं खरीद रहा है। ऐसे में फसल को मजदुर से कटवाने और बोरे में पैकिंग कर मंडी तक ले जाने का खर्च ही फसल की कीमत से ज़्यादा हो जायेगी। ओम प्रकाश यादव ने कहा इस खेत में अब वह गेंहू रोपेंगे। सरकारी योजनाओं के बारे में ओम प्रकाश यादव ने कहा पिछले साल एक हजार की क्षतिपूर्ति रकम मिली थी, 10 बीघे की खेती में नुक्सान होने पर 1 हजार रुपये कुछ भी नहीं है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...