30 C
Patna
April 18, 2021
बिहार मुख्य समाचार राजनीती राज्य समाचार

सचिन तेंदुलकर को “भारत रत्न” देना इस सम्मान को अपमानित करने जैसा है, राजद के शिवानंद तिवारी विवादित बयान

shivanand tiwari on sachin tendulkar

पटना। केंद्र सरकार द्वारा लाये गए कृषि बिल का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। राजधानी दिल्ली में किसान इस कृषि बिल के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं, इस आंदोलन को विदेशी स्टार द्वारा समर्थन मिलने के बाद सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar)ने इसे भारत के खिलाफ दुष्प्रचार बताया था। जिसके बाद राजद के शिवानंद तिवारी ने सचिन के खिलाफ बेहद तल्ख़ टिप्पणी (Shivanand Tiwari on Sachin Tendulkar) की है। शिवानंद तिवारी ने सचिन तेंदुलकर को “भारत रत्न” दिए जाने पर सवाल उठाया है। शिवानंद ने सचिन की आलोचना में हद पार करते हुए, यहां तक कह डाला की सचिन को भारत रत्न देने का फैसला बिलकुल गलत था। सचिन इस काबिल नहीं थे, उन्हें “भारत रत्न” देना इस सम्मान का अपमान है।

यह भी पढ़ें : – पति के हाथ-पैर बांधकर पत्नी के साथ 5 युवकों ने किया गैंगरेप, बेबस पति गिड़गिड़ाते हुए छोड़ देने की लगाता रहा गुहार

Shivanand Tiwari on Sachin Tendulkar

राजद के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष और पूर्व सांसद शिवानंद तिवारी ने कहा की पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को “भारत रत्न” देने का फैसला कहीं से भी सही नहीं लगता है। सचिन इस सम्मान के काबिल नहीं थे। शिवानंद तिवारी ने आगे कहा – जिस समय उन्हें यह सम्मान दिया जा रहा था, उस समय भी मैंने इसका विरोध किया था। एक ऐसे इंसान को “भारत रत्न”देना जो पैसे लेकर विभिन्न ब्रांड का प्रचार करता हो, उसे यह सम्मान कैसे दिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : – माँ को ढूंढने गयी 12 साल की लड़की का अपहरण करने के बाद 6 लोगों ने किया गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट से बहते खून को देखकर

सचिन ने ऐसा कुछ ख़ास नहीं किया है, जिसके लिए उन्हें “भारत रत्न” जैसे सम्मान से सम्मानित किया जाए। शिवानाद तिवारी के इस बयान का राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने बचाव करते हुए कहा – सचिन तेंदुलकर क्रिकेट में बेहद बड़ा नाम है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की उन्हें हर क्षेत्र की जरुरी समझ हो।

यह भी पढ़ें : – सावधान – सैमसंग स्मार्टफोन यूजर्स के लिए बड़ी खबर, जल्दी से कर ले ये काम नहीं तो उठाना पडेगा नुकसान (Shivanand Tiwari on Sachin Tendulkar)

दरअसल सचिन तेंदुलकर ने एक ट्वीट किया था की भारत की एकता और अखण्डता से समझौता नहीं किया जा सकता है। बाहरी ताकतों को हमारे आतंरिक मामलों में दखल देने का कोई अधिकार नहीं है। जो लोग हमारे देश के बारे में सही जानकारी नहीं रखते हैं, वो दर्शकों की तरह चुपचाप देखते रहें। हालांकि सचिन के ट्वीट में देश के प्रति या किसान आंदोलन को लेकर कोई भी आपत्तिजनक बात नज़र नहीं आयी है। उसके बाद भी राजद को सचिन से किस बात की खुन्नस है, यह समझ से परे है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...