30 C
Patna
April 7, 2020
गुजरात राज्य समाचार

झोंपड़ी में आग लगने से 7 बच्चे ज़िंदा जले, तीन की मौत खेलते समय बच्चों ने लगाई थी आग

three child burn alive in gujrat

अहमदाबाद। गुजरात के पोरबंदर जिले से दिल दहला देने वाली खबर आयी है। शुक्रवार की रात यहां एक गाँव में झोपड़े में अचानक से आग लग गयी, जिससे 7 बच्चे बुरी तरह से झुलस गए। तीन बच्चों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, दो बच्चों का इलाज चल रहा है। घटना की खबर मिलने पर पुलिस दल – बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर, ग्रामीणों की मदद से बुरी तरह से झुलस (Three child burn alive in gujrat) चुके बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

यह भी पढ़ें : – पुलवामा हमले में शहीद हुए सैनिक के मासूम बेटे का सवाल सुनकर भर आयी आँखें

खबरों के मुताबिक़ दिल को दहला देने वाली यह घटना पोरबंदर के हनुमानगढ़ क्षेत्र में स्थित तरसाई गांव की है। यहां गाँव के बाहर खेत में बने झोपड़े में 7 बच्चे खेल रहे थे। बताया जाता है खेल – खेल में बच्चों ने माचिस की तीली से चूल्हे में आग लगाई, जो अचानक से भड़क गयी और झोपड़े को अपनी चपेट में ले लिया। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया, आग में घिरे बच्चों के चीखने – चिल्लाने की अवाज़ सुनकर ग्रामीण दौड़े। इस आग से दो बच्चे भागकर जान बचाने में कामयाब रहे, वहीं 5 बच्चे आग से बुरी तरह झुलस गए। 3 बच्चों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। दो बच्चों का इलाज चल रहा है, स्थिति चिंताजनक बनी हुई है।

Three child burn alive in gujrat

यह भी पढ़ें : – सरसो के खेत में मौसेरी बहन के साथ किया दुष्कर्म, दुसरा दोस्त दुष्कर्म का वीडियो बनाता रहा

मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया की खेत में बने झोपड़ी में 7 बच्चे खेल रहे थे। खेल के दौरान ही बच्चों ने चूल्हे में आग लगा दी, चूल्हे में लगी आग भड़क उठी और पुरे झोपड़ी को अपनी आगोश में ले लिया। वहाँ खेल रहे 5 बच्चे भी इस आग की चपेट में आ गए, 2 बच्चे किसी तरह भागकर जान बचाने में कामयाब रहे। बुरी तरह से झुलसने की वजह से 3 बच्चों की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी। एक साथ 3 बच्चों की मौत से पुरे गाँव में मातम छा गया है। पुलिस मामला दर्ज कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...