30 C
Patna
July 30, 2021
उत्तर प्रदेश राज्य समाचार

जयमाल स्टेज पर दुल्हन ने दूल्हे का लिया टेस्ट, फेल होने पर सबके सामने शादी से कर दिया इंकार

bride refused marriage

महोबा। उत्तरप्रदेश के महोबा जिले से एक अजीबोगरीब लेकिन दिल को सुकून देने वाला मामला सामने आया है। अपने भविष्य को लेकर आज की युवा पीढ़ी किस कदर सजग है, उसकी बानगी देखने को मिली है। यहां पनवाड़ी कस्बे में शादी समारोह पुरे धूम-धाम से चल रही थी, दूल्हा-दुल्हन जयमाल के लिए स्टेज पर आये। इस बीच दुल्हन ने दूल्हे को माला पहनाने से पहले उसके सामने एक शर्त रख दी, जिसे दूल्हा पूरा नहीं कर पाया। आखिर में दुहन ने शादी से इंकार (Bride Refused marriage) कर दिया, वहाँ मौजूद तमाम बुजुर्ग और रिश्तेदारों ने दुल्हन को समझाने की कोशिश की, परन्तु दुल्हन टस से मस नहीं हुई। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद भी जब दुल्हन तैयार नहीं हुई, तो दूल्हे को बिना दुल्हन के ही वापस लौटना पड़ा।

यह भी पढ़ें : – बिहारशरीफ में ठगी गिरोह का भंडाफोड़, बड़े घरानों की औरतों से दोस्ती कराने के नाम पर करते थे ठगी

Bride Refused marriage

दरअसल शुक्रवार की रात को पनवाड़ी कसबे के एक गेस्ट हॉउस में शादी समारोह चल रहा था। बारात का अच्छे से स्वागत करने के बाद जयमाल की रस्म निभाने के लिए दूल्हा-दुल्हन को स्टेज पर लाया गया। दूल्हे के गले में माला डालने से पहले दुल्हन ने दूल्हे के सामने एक शर्त रख दी। दूल्हा ने भी इसे मजाक समझकर स्वीकार कर लिया, जिसपर दुल्हन ने दूल्हे से 2 का पहाड़ा सुनाने को कह दिया। हैरानी की बात यह रही की दूल्हे को 2 का पहाड़ा नहीं आता था। जिसके बाद दुहन ने शादी करने से इंकार कर दिया। दुल्हन का फैसला सुनकर लड़के वाले के साथ-साथ लड़की पक्ष वाले भी स्तब्ध रह गए।

यह भी पढ़ें : – शर्मनाक – हाथ-पैर बांधकर 14 साल की नाबालिग छात्रा के साथ रात भर किया गया बलात्कार, पुलिस पर मामला रफा-दफा करने का आरोप

Bride Refused marriage

थोड़ी देर पहले जहां गाना-बजाना चल रहा था, वहाँ एकदम सन्नाटा छा गया। दुल्हन के घरवालों ने शादी करने के लिए दुल्हन को मनाने में जुट गए, परन्तु दुल्हन अपने फैसले से टस से मस नहीं हुई। दुल्हन को मनाने के लिए वहाँ मौजूद बुजुर्ग और रिश्तेदार भी जुट गए, परन्तु उसने अपना फैसला नहीं बदला। आखिर में स्थानीय पुलिस अधिकारी के समझाने के बाद भी जब दुल्हन तैयार नहीं हुई तो, उसी समय पंचायत बुलाई गयी, उसके बाद वधु पक्ष को 4 लाख रुपये की नकद राशि दिलवाई गयी। शादी में हुए खर्चे को दोनों पक्ष ने समायोजन कर सुलझा लिया, आखिर में बाराती बिना दुल्हन लिए बेरंग वापस लौट गयी।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...